What is freelancing and how to earn lakhs of rupees sitting at home

फ्रीलांसिंग क्या है और इससे पैसे कैसे कमाते है?

ज्यादातर लोग अपनी पढाई पूरी करने के बाद एक फुल टाइम जॉब करते है और रोज कंपनी में सुबह 9 से शाम 5 बजे तक काम करते है l लेकिन कुछ लोगों को जॉब करना बिल्कुल पसंद नहीं होता है और वो अपने शर्तों पर और अपने हिसाब से काम करना चाहते है l ऐसे लोगों के लिए फ्रीलांसिंग एक बेहतर विकल्प है l आज आपको इस आर्टिकल के माध्यम से यह जानने को मिलेगा कि फ्रीलांसिंग क्या होती है और कैसे आप अपनी स्किल का उपयोग करके फ्रीलांसिंग से अच्छे-खासे पैसे कमा सकते है l

यूनाइटेड स्टेट अमेरिका में 78% फ्रीलांसर हैं जो अपने काम को अपने घर या किसी अन्य स्थान से करते है l वहीँ अगर हम भारत देश की बात करें तो भारत देश 29% फ्रीलांसर के साथ सातवें स्थान पर हैं जबकि पाकिस्तान 47% फ्रीलांसर के साथ चौथे स्थान पर है l

जब से भारत देश में लॉकडाउन लगा और लोगों की जॉब गई तब से लोगों ने यह सोचना शुरू कर दिया कि एक इनकम के साधन से कुछ नहीं होगा जिसके लिए उन्हें एक से अधिक इनकम के साधन उत्पन्न करने होंगे l इसीलिए 2020 के बाद ही ज्यादातर लोग ऑनलाइन पैसे कमाने के साधन खोजने लग गए थे और बहुत सारे लोगों ने फ्रीलांसिंग के माध्यम से अपने आप को सुरक्षित किया और अपने खर्चे के साधन खोजे l

फ्रीलांसिंग क्या है?

फ्रीलांसिंग क्या है?
फ्रीलांसिंग – Freelancing

जब कोई व्यक्ति किसी क्लाइंट, एजेंसी या कंपनी के लिए अपने समयानुसार काम करता है, अपने मर्ज़ी के स्थान से काम करता है व अपने मनचाहे पैसों पर काम करके पैसे कमाता है तो इस प्रक्रिया को “फ्रीलांसिंग” कहते है l

फ्रीलांसिंग के लिए आपको किसी भी ऑफिस या कहीं आने-जाने की कोई टेंशन नहीं होती है l आप अपने अनुसार किसी भी क्लाइंट के लिए काम करते सकते है l आप ये भी तय कर सकते है कि उस काम के लिए कितना पैसा लेंगे और कब तक काम करके देंगे l

फ्रीलांसिंग जॉब्स क्या है?

जब हम किसी कंपनी के लिए अपनी मर्ज़ी से, अपने समय अनुसार अपने स्थान से काम करते है तो इस प्रकार की जॉब को “फ्रीलांसिंग जॉब्स” कहा जाता है l

फ्रीलांसर किसे कहते है?

जो व्यक्ति अपनी मर्ज़ी से किसी भी क्लाइंट, कंपनी या एजेंसी के लिए काम करता है व उस काम को अपने नियमानुसार व मनचाहे पैसों पर पूरा करता है उसे “फ्रीलांसर” कहते है l

जिस इंसान के पास कोई न कोई स्किल होती है वह फ्रीलांसर बन सकता है और दूसरों के लिए काम करके अच्छे-खासे पैसे भी कमा सकता है l

फ्रीलांसिंग के लिए क्या जरूरी है?

जब आप फ्रीलांसिंग की शुरुआत करते है तो आपको बहुत दिक्कतों का सामना करना पड़ता है क्युकी यह सबके लिए नहीं है l फ्रीलांसिंग भले ही आपको स्वतन्त्रता प्रदान करती है लेकिन उसके बदले आपसे मांगती भी बहुत कुछ है l

फ्रीलांसिंग के लिए कुछ जरूरी साधन-

1. लैपटॉप या फ़ोन- फ्रीलांसिंग करने के लिए आपके पास लैपटॉप या फ़ोन होना बहुत जरूरी है l हालाँकि फ़ोन में आप अपने काम को तेज़ी के साथ नहीं कर पाएंगे l कुछ सॉफ्टवेर केवल लैपटॉप में ही काम करते है जिसके लिए बाद में आपको लैपटॉप की आवश्यकता जरूर पड़ेगी l

2. इन्टरनेट कनेक्शन- आपको अपने काम को करने के लिए इन्टरनेट की आवश्यकता पड़ेगी l बिना इन्टरनेट आप अपने लैपटॉप या मोबाइल पर काम नहीं कर पाएंगे इसीलिए लैपटॉप और इन्टरनेट फ्रीलांसिंग करने के लिए आपके महत्वपूर्ण संसाधन होंगे l

3. माइंडसेट- आप किसी भी काम को तब तक पूरा नहीं कर पाएंगे जब तक आपका माइंडसेट सही नहीं होगा l आपको ये सोचना है कि कैसे मैं क्लाइंट के लिए प्रॉफिट करा सकता हूँ l मैं ऐसा क्या कर सकता हूँ कि क्लाइंट मेरे काम से खुश हो जाये और दोबारा जब भी काम पड़े तो वो मुझे ही काम दे l

अगर आप क्लाइंट को अच्छे से काम करके नहीं देंगे तो वो आपके पास दोबारा नहीं आएगा और आपको नेगेटिव फीडबैक दे देगा l इसीलिए आपको क्लाइंट के लिए सोचना है l जब आप क्लाइंट के लिए अच्छा काम करके देंगे तक क्लाइंट भी आपको ख़ुशी-ख़ुशी पैसा देगा l

4. स्किल- फ्रीलांसिंग करने के लिए सबसे जरूरी साधन स्किल होती है l आप बिना स्किल किसी के लिए भी काम नहीं कर सकते l अगर आपको कोई स्किल नहीं आती है तो आप अपने इंटरेस्ट को देखते हुए नयी स्किल सीख सकते है l आपको कोई भी स्किल सिखने में कुछ ही महीनों का समय लगता है l

अगर आपने पहले किसी कंपनी या क्लाइंट के लिए काम किया हुआ है और आपको उस काम का अनुभव है तो भी आप अपनी सर्विस को फ्रीलांसिंग के साथ जोड़ सकते है l

5. क्लाइंट- अगर आपके पास लैपटॉप, इन्टरनेट कनेक्शन, स्किल सब कुछ है लेकिन यदि आपके पास क्लाइंट नहीं है तो भी आप फ्रीलांसिंग नहीं कर सकते है l इस प्रक्रिया में क्लाइंट ही ऐसा इंसान होता है तो फ्रीलांसर को पैसे देता है l बिना क्लाइंट के आप लम्बे समय तक काम नहीं कर सकते है l

आपको ऐसे लोगों के साथ काम नहीं करना है जो आपको केवल एक बार ही काम दे, आपको उन लोगों के साथ काम करना है जो आपको लम्बे समय काम देता रहे l आप शुरुआत में जिन लोगों के लिए भी काम करे तो कोशिश करें कि क्लाइंट को अच्छा काम करके दे जिससे वो क्लाइंट आपको बार-बार काम देगा और आपको लम्बे समय तक काम मिलता रहेगा l

6. पेमेंट- फ्रीलांसिंग में आप अलग-अलग देश के लोगों के साथ काम करते है जिसके लिए आपको पेमेंट प्राप्त करने के लिए काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है l इसीलिए आपको अपना पेमेंट प्राप्त करने के लिए इंटरनेशनल पेमेंट गेटवे का सहारा लेना पड़ता है l ये पेमेंट गेटवे आपका पैसा दुसरे देश से आपके अकाउंट में ट्रान्सफर करने का कुछ फीस लेते है और उसके बाद आपका पैसा आपके बैंक अकाउंट में सही सलामत भेज दिया जाता है l

फ्रीलांसिंग वेबसाइट कैसे काम करती है?

फ्रीलांसिंग वेबसाइट फ्रीलांसर और क्लाइंट को एक ही प्लेटफार्म पर मिलाने में मदद करती है l जब भी किसी इन्सान को कोई काम करवाना होता है तो वो इन वेबसाइट पर जाता है और अपने काम से सम्बंधित कीवर्ड सर्च करता है l ये वेबसाइट उस इंसान को उसके काम के मुताबिक कई फ्रीलांसर की प्रोफाइल खोल के दिखा देती है l क्लाइंट अपने हिसाब से किसी भी फ्रीलांसर को मेसेज कर सकता है और उससे बात करके काम भी दे सकता है l

अगर आप फ्रीलांसर है तो आप अपने स्किल के हिसाब से कीवर्ड सर्च कर सकते है जिसके बाद आपको बहुत सारी जॉब्स दिख जाती है l आप इन पर बिडिंग कर सकते है l क्लाइंट को जिसकी बिडिंग सबसे बढ़िया लगेगी वो उसको मेसेज करेगा और उसको काम दे देदेगा l

जब आप क्लाइंट से काम व पैसे तय करते है उसके बाद क्लाइंट पेमेंट करता है l यह पेमेंट फ्रीलांसिंग वेबसाइट में कुछ दिनों तक रहता है l जब क्लाइंट आपके काम से संतुष्ट हो जाता है उसके बाद फ्रीलांसिंग वेबसाइट के द्वारा पेमेंट आपके बैंक अकाउंट में भेज दिया जाता है l

फ्रीलांसिंग वेबसाइट क्लाइंट व फ्रीलांसर दोनों का अच्छे से ध्यान रखती है जिसके बदले आपको इन वेबसाइट को अपनी कमाई का कुछ प्रतिशत देना पड़ता है l

फ्रीलांसिंग के लिए क्लाइंट ढूंढकर पैसे कैसे कमाए?

फ्रीलांसिंग बिना स्किल और क्लाइंट के पूरी नहीं हो सकती इसीलिए अगर आपको फ्रीलांसिंग में सफल होना है तो उसके लिए आपको अपने स्किल के अनुसार क्लाइंट ढूंढने पड़ते है l

जब लोग ऑफलाइन तरीके से फ्रीलांसिंग करते थे तो उसके लिए उन्हें काफी मसक्कत करनी पड़ती थी लेकिन ऑनलाइन में क्लाइंट ढूंढने के लिए आपको कहीं भी नहीं जाना पड़ता है l इन्टरनेट की मदद से आप क्लाइंट को आसानी से धुंध सकते है l

इन्टरनेट पर क्लाइंट को ढूंढने के लिए आप नीचे दिए गए तरीके अपना सकते है-

फ्रीलांसिंग वेबसाइट- ऐसी वेबसाइट जहाँ पर फ्रीलांसर व क्लाइंट दोनों एक ही स्थान पर मिल जाते है उन्हें “फ्रीलांसिंग वेबसाइट” कहते है l फ्रीलांसिंग वेबसाइट, फ्रीलांसर व क्लाइंट के बीच एक middleman की तरह काम करती है l आपको जो भी स्किल आती है उसके हिसाब से आप इन वेबसाइट में क्लाइंट ढूंढ सकते है l

टॉप फ्रीलांसिंग वेबसाइट-

Fiverr
Upwork
Freelancer
Peopleperhour
Truelancer
Guru
99designs

Linkedin- Linkedin पर ज्यादातर बिज़नसमैन और प्रोफेशनल लोग मिलते है l अपनी स्किल के अनुसार आप linkedin पर जाकर फ्रीलांसिंग काम ढूंढ सकते है l यहाँ पर आपको छोटे बिज़नस और स्टार्टअप से सम्बंधित काम भी मिल सकता है l जिन लोगों को आपके स्किल से सम्बंधित लोग चाहिए आप उन लोगों को डायरेक्ट मेसेज कर सकते है और उन्हें अपना काम दिखा सकते है l अगर उनको लगेगा कि आपको काम आता है तो वो आपको जरूर hire कर लेंगे l
Linkedin की मदद के साथ आप फ्रीलांसिंग work के साथ-साथ जॉब भी पा सकते है l

फेसबुक ग्रुप- आपको जो स्किल आती है उस स्किल के हिसाब से आप फेसबुक पर कुछ ग्रुप ज्वाइन कर सकते है l जिन लोगों को अपने प्रोजेक्ट के लिए फ्रीलांसर की जरूरत होती है वो सबसे पहले उन फेसबुक ग्रुप में अपडेट करते है l अगर आप उस ग्रुप में valuable कंटेंट डालते हो और एक्टिव रहते हो तो इसके पुरे चांसेस होते है कि वहां से आपको अपने काम के लिए अच्छे क्लाइंट मिल जाते है l

Instagram पेज- आप अगर अपने स्किल से सम्बंधित पोस्ट अपने Instagram पेज पर शेयर करते है तो उससे उस पेज पर नए नए लोग आते है l अगर आप उस पेज पर रेगुलर valuable कंटेंट पब्लिश करते है उससे आपकी authority बढती है l जब आपकी authority बढती है उससे आपको क्लाइंट मिलने की संभावनाएं बढ़ जाती है l

यूट्यूब चैनल- किसी भी काम में अपनी authority बढाने में यूट्यूब वीडियो बहुत सहायक होती है l अगर आप यूट्यूब पर एक्टिव रहते है और लगातार कंटेंट डालते है तो आपको अपने यूट्यूब चैनल के जरिये अच्छे क्लाइंट मिलने की सम्भावना बढ़ जाती है l

ब्लॉग- अगर आपके पास कोई ब्लॉग है और वह गूगल पर किसी कीवर्ड पर रैंक कर रहा होता है तो उससे आपको अपने ब्लॉग की मदद से इंटरनेशनल क्लाइंट मिलने की सम्भावना रहती है l

फ्रीलांसिंग करने के क्या फायदे है?

ज्यादातर लोग फ्रीलांसिंग इसीलिए पसंद करते हैं क्युकी उन्हें इससे काफी सारे फायदे मिलते है जो उन्हें किसी भी जॉब या बिज़नस में नहीं मिलते है l

  1. फ्रीलांसिंग में आपको स्वतंत्रता मिलती है l
  2. आप अपने घर से काम कर सकते है l
  3. आपको रोज ऑफिस नहीं जाना पड़ता l
  4. आपको रोज ऑफिस आने-जाने का झंझट नहीं होता है l
  5. आप अपने समय के अनुसार काम करते है l
  6. आप अपने काम का मूल्य खुद तय करते है l
  7. आप अलग-अलग लोगों व कंपनियों के साथ काम करते है l
  8. आप इंटरनेशनल क्लाइंट्स के साथ काम करते है l
  9. आपको नए नए प्रोजेक्ट पर काम करने को मिलता है और आपको काफी अनुभव भी मिलता है l
  10. आप डॉलर में पैसे कमाते है जिससे आपकी कमाई भी इंडिया के मुकाबले ज्यादा होती है l

फ्रीलांसिंग कौन कर सकता है?

फ्रीलांसिंग हर इन्सान के लिए नहीं बनी है l क्युकी कुछ काम ऐसे होते है जो हम अपने घर पर बैठकर नहीं कर सकते उसके लिए हमें फील्ड पर जाना ही पड़ता है l वहां पर हमें फिजिकल रूप में उपस्थित होना आवश्यक होता है l

ऐसे लोग जो फ्रीलांसिंग कर सकते है-

  • टीचर
  • सॉफ्टवेर इंजिनियर
  • वेब डेवलपर
  • ऐप डेवलपर
  • डिजिटल मार्केटर
  • वीडियो एडिटर
  • ग्राफ़िक डिज़ाइनर
  • कंटेंट राइटर
  • आदि

ये लोग ऑनलाइन घर बैठे क्लाइंट का काम ले सकते है और उसे घर बैठे ही पूरा कर सकते है l

ऐसे लोग जिनके लिए फ्रीलांसिंग थोडा मुश्किल है-

  • सिविल इंजिनियर
  • कारपेंटर
  • पेंटर
  • प्लम्बर
  • वेल्डर
  • मिस्त्री
  • आदि

इन लोगों को काम करने के लिए क्लाइंट के घर जाना पड़ता है ये लोग क्लाइंट के काम को घर बैठे नहीं कर सकते है l

निष्कर्ष

इस आर्टिकल के माध्यम से आप जान गए होंगे कि फ्रीलांसिंग क्या है और इससे पैसे कैसे कमाये जाते है? आप फ्रीलांसिंग में भले ही अपनी मर्ज़ी से काम रहे होंगे लेकिन आपको इस बात का ध्यान रखना होगा कि क्लाइंट आपके काम से खुश है या नहीं l जब आप अपने क्लाइंट के लिए अच्छा सोचेंगे तो क्लाइंट भी आपके लिए अच्छा सोचेगा और वह क्लाइंट आपको लम्बे समय तक काम देता रहेगा l

Disclaimer: इस आर्टिकल को कुछ अनुमानों और जानकारी के आधार पर बनाया है हम फाइनेंसियल एडवाइजर नही है आप इस आर्टिकल को पढ़कर शेयर बाज़ार (Stock Market), म्यूच्यूअल फण्ड (Mutual Fund), क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) निवेश करते है तो आपके प्रॉफिट (Profit) और लोस (Loss) के हम जिम्मेदार नही है इसलिए अपनी समझ से निवेश करे और निवेश करने से पहले फाइनेंसियल एडवाइजर की सलाह जरुर ले

Important Information:  Important Information: हम किसी भी तरह की Paid Tips या Advise नहीं देते हैं, साथ ही हम किसी भी स्टॉक को खरीदने की सलाह भी नहीं देते बड़े पब्लिकेशन के द्वारा दी गई जानकारी को हमारे द्वारा पुन अधिक जानकारी के साथ प्रकाशित करते हैं। हम किसी भी तरह की भ्रामक सूचना भी साझा नहीं करते हैं। ध्यान दें कि हम किसी भी प्रकार की Tips और Advise किसी शेयर को खरीदने के लिए हमारे किसी भी प्लेटफार्म जैसे WhatsApp Group, Telegram Group, YouTube पर भी साझा नहीं करते हैं

हमारी टीम से बात करने के लिए मेल करे info.avsvishal@gmail.com

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *