RBI ने 2000 के नोटों को चलन से बाहर करने का ऐलान कर दिया है। 

सभी लोग अपने नोट 23 मई से 30 सितम्बर के बीच बदल सकते है। 

लेकिन इस फैसले से मार्केट में थोड़ी उथल-पुथल जरूर देखने को मिली है। 

RBI के इस फैसले पर व्यापारियों का कहना है, आइये जानते है?

बड़े शहरों के छोटे व्यापारियों के अनुसार -

मार्केट में पहले से ही 2000 के नोट काफी कम हो गये थे। 

लेकिन ग्राहक अब 2000 के नोटों को लेकर बाजार पहुँच रहे है। 

ग्राहक अपने 2000 के नोटों मार्केट में देकर उससे छुटकारा पाना चाहते है। 

हालाँकि ज्यादातर व्यापारी अभी भी ग्राहकों से नोट ले रहे है। 

लेकिन कुछ व्यापारी 2000 के नोटों लेकिन से बच रहे है। 

कुछ व्यापारी कहते है कि उनका सारा ट्रांसैक्शन डिजिटली होता है। 

डिजिटल ट्रांसैक्शन की वजह से उनको इस बात से ज्यादा फर्क नहीं पड़ता है।