दुनियाँ की बड़ी-बड़ी कंपनियों में मंदी का असर देखा गया। 

मंदी का असर देश की भी बड़ी कंपनियों में भी हुआ।

इसका सबसे ज्यादा प्रभाव IT सेक्टर की नौकरियों पर देखा गया। 

क्योंकि आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस ने काफी इंसानों को रिप्लेस कर दिया। 

आइये जानतें है कि किस कंपनी ने कितनी छंटनी की -

Wipro   इस वित्त वर्ष की पहली तिमाही में 8,812 कर्मचारियों की कमी आई है।

Infosys   इस वित्त वर्ष की पहली तिमाही में 7,000 से ज्यादा कर्मचारियों की कमी आई है।

HCL Tech   इस वित्त वर्ष की पहली तिमाही में 2,506 कर्मचारियों की कमी आई है।

TCS   जून 2023 को समाप्त तिमाही के दौरान 523 नये कर्मचारियों की भर्ती की है।