हिंडनबर्ग रिपोर्ट ने अडानी ग्रुप को काफी नुकसान पहुँचाया।

अडानी ग्रुप के साथ-साथ LIC को भी तगड़ा नुकसान झेलना पड़ा।

क्योंकि LIC ने भी अडानी ग्रुप में अच्छा खासा पैसा निवेश किया हुआ था।

जिसके बाद LIC की निवेश प्रक्रिया पर भी सवाल खड़े होने लगे।

लेकिन उस समय LIC बिना डरे अपने फैसले पर कायम रही।

उस समय लिए फैसले की वजह से ही LIC को अब तगड़ा मुनाफा हो रहा है।

Arrow

लगभग 2 महीने में LIC की निवेश राशि बढ़कर 45,000 करोड़ रुपये हो गई है।

अप्रैल में LIC को अपने निवेश पर 6,200 करोड़ रुपये से अधिक की वृद्धि हुई।

अडानी ग्रुप के शेयर्स में ग्रोथ की वजह से LIC को भी जबरदस्त फायदा हो रहा है।

Arrow

स्टार्टअप, बिजनेस और फाउंडर्स  की सफलता की कहानी पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें