आपने शहरों में Big Bazaar के रीटेल स्टोर्स तो देखे ही होंगे।

बिग बाजार की शुरुआत किशोर बियानी ने 2001 में की थी।

बिग बाजार में दैनिक इस्तेमाल के सभी चीजें अच्छे दामों पर उपलब्ध थी।

बिग बाजार के इस कॉन्सेप्ट ने लोगों को अपनी ओर आकर्षित किया।

बिग बाजार के स्टोर्स में ग्राहकों की भीड़ बढ़ती चली गई।

इस भीड़ को कंट्रोल करने के लिए किशोर बियानी एक मंदिर जाते थे।

वो मंदिर आंध्रप्रदेश का तिरुपति बालाजी मंदिर है।

स्टोर्स की भीड़ को मैनेज करने का तरीका इसी मंदिर से सीखते थे।

तिरुपति मंदिर में बहुत भीड़ होती है जिसे मंदिर परिसर अच्छे से मैनेज करता है।

मंदिर के मैनेजमेंट से ही किशोर ने बिगबाजार की भीड़ को मैनेज करना सीखा।