रियल स्टेट से लेकर पोर्ट्स तक अडानी की धाँसू एंट्री हो चुकी है। 

गौतम अडानी, व्यापार के विस्तार के साथ-साथ नए सेक्टर्स में भी एंट्री मार रहे है। 

अब अडानी ग्रुप द्वारा दिए बयान में हाइड्रोजन चलित ट्रक की बात कही गई है। 

Arrow

माइनिंग लॉजिस्टिक्स और परिवहन के लिए ग्रुप को ट्रकों की जरूरत पड़ती है। 

इसीलिए अडानी इंटरप्राइजेज अब हाइड्रोजन चलित ट्रक बनाने पर काम करेगा। 

अडानी इंटरप्राइजेज ने अशोक लेलैंड और बल्लार्ड पॉवर से हाँथ मिलाया है। 

अशोक लेलैंड कंपनी ट्रक के लिए प्लैटफॉर्म और टेक्नोलॉजी तैयार करेगी। 

कनाडा की कंपनी बल्लार्ड पावर हाइड्रोजन से चलने वाले इंजन सप्लाई करेगी। 

अडानी ग्रुप इन माइनिंग ट्रकों को 2023 में लाँच करने की योजना बना रहा है। 

अडानी ग्रुप ने हाइड्रोजन इकोसिस्टम के लिए अगले 10 साल का प्लान बनाया है। 

अडानी ग्रुप इस इकोसिस्टम के लिए 50 मिलियन डॉलर खर्च करेगा। 

Arrow

स्टार्टअप, बिजनेस और फाउंडर्स  की सफलता की कहानी पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें