ये तय हो गया कि Bisleri अब नहीं बिकेगी। 

क्योंकि TATA अब इस डील से बाहर हो गया है। 

दरअसल Bisleri के मालिक रमेश चौहान इसे बेचना चाहते थे।

क्योंकि Bisleri को सँभालने के लिए कोई उत्तराधिकारी नहीं बचा था। 

उनकी बेटी जयंती चौहान भी Bisleri को लेकर सीरियस नहीं थी। 

टाटा ने Bisleri को खरीदने में दिलचस्पी दिखाई थी। 

इन दोनों की डील अंतिम चरण में भी पहुँच चुकी थी। 

लेकिन वैल्यूएशन के कारण टाटा इस डील से बाहर हो चुका है। 

इसीलिए Bisleri की कमान अब रमेश की बेटी जयंती चौहान संभालेंगी। 

जयंती इस समय Bisleri की वाइस चेयरपर्सन के पद पर कार्यरत है।