Tata Can Make Made in India iPhones

अब TATA बना सकता है मेड इन इंडिया iPhones?

TATA Group & iPhones Manufacturing in India: टाटा ग्रुप टेक्नोलॉजी मैन्युफैक्चरिंग में अपने पैर जमाना चाहता है इसीलिए iPhones की मैन्युफैक्चरिंग भारत में करने के लिए टाटा एक ताइवानी कंपनी Wistron Corp से बात कर रहा है। अगर यह डील सफल हो जाती है तो आपको मेड इन इंडिया iPhones देखने को मिलेंगे।

लॉकडाउन ने सभी देशों को आत्मनिर्भर बनने का रास्ता दिया क्यूँकि हम दूसरों पर निर्भर रहकर मार्केट में ज्यादा दिन तक नहीं टिक सकते। सरकार ने आत्मनिर्भर भारत को सपोर्ट किया है जिसकी वजह से भारतीय कंपनी अब अपने देश में ही नए-नए सेक्टर में प्रवेश कर रही है और कस्टरमर को मेड इन इंडिया प्रोडक्ट कम दामों पर दे पा रही है।

विस्ट्रॉन कॉर्प (Wistron Corporation) क्या है?

विस्ट्रॉन कॉर्प, इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी (IT) सेक्टर की में लीडर है, यह एक ताइवानी कंपनी है। विस्ट्रॉन कॉर्प, एप्पल कंपनी को iPhones सप्लाई करती है। इस कंपनी को प्रोडक्ट डेवलपमेंट, सप्लाई चेन और असेंबली में महारत हासिल है। विस्ट्रॉन कॉर्प, भारत और चीन में एप्पल के लिए iPhones का निर्माण करती है।

आखिर क्यों TATA ग्रुप, iPhones की मैन्युफैक्चरिंग करना चाहता है?

टाटा (TATA) लगातार नए-नए सेक्टर्स में प्रवेश कर रहा है जिससे टाटा हर क्षेत्र में नंबर 1 कंपनी बन पाए इसीलिए टाटा अब टेक्नोलॉजी मैन्युफैक्चरिंग के क्षेत्र में अपना कदम रखना चाहती है। इलेक्ट्रॉनिक्स मैन्युफैक्चरिंग में काफी समय से चीन का दबदबा रहा है लेकिन लॉकडाउन के बाद विश्व की सभी बड़ी कम्पनियाँ अब चीन से बिज़नेस सम्बन्ध नहीं रखना चाहती है।

चीन से बिगड़ते सम्बन्ध का फायदा अब भारत उठाना चाहता है और टेक्नोलॉजी मैन्युफैक्चरिंग में एक आत्मनिर्भर देश बनना चाहता है। सरकार से सहयोग मिलने के बाद अब टाटा भी इस मार्केट में कूद पड़ा है और इसीलिए ताइवानी कंपनी से बात कर रहा है।

टाटा ग्रुप और विस्ट्रॉन कॉर्प के बीच डील कैसे होगी?
टाटा ग्रुप, विस्ट्रॉन कॉर्प के साथ मिलकर एक जॉइन्ट वेंचर का निर्माण कर सकता है ताकि दोनों एक साथ मिलकर भारत में मेड इन इंडिया iPhones का निर्माण कर सके।

लेकिन यदि विस्ट्रॉन कॉर्प साथ मिलकर काम करने से मना कर देता है तो टाटा ग्रुप, इस कंपनी की हिस्सेदारी खरीद लेगा जिससे इनको मैन्युफैक्चरिंग के क्षेत्र में प्रवेश मिल सके।

टाटा ग्रुप (TATA Group) टेक्नोलॉजी मैन्युफैक्चरिंग में कहाँ तक सफल होगा?

भारत के लोगों को टाटा पर ट्रस्ट है और यह ट्रस्ट देश की सरकार को भी है। देश के लोग और और सरकार इस समय भारतीय कंपनियों को बहुत ही ज्यादा सपोर्ट कर रहे है। टाटा देश के लिए प्रोडक्ट बनाता है और अब टाटा इसीलिए टेक्नोलॉजी मैन्युफैक्चरिंग के क्षेत्र में भी काम करना चाहता है।

टाटा और भी इलेक्ट्रॉनिक्स ब्रांड से बातचीत कर रहा है ताकि टाटा iPhones के साथ और भी ब्रांड्स के प्रोडक्ट की मैन्युफैक्चरिंग भारत में कर सके।

आप ये मान सकते है कि यदि टाटा अपने इस लक्ष्य में सफल हो जाता है तो भारत टेक्नोलॉजी मैन्युफैक्चरिंग के क्षेत्र में चीन को काफी पीछे छोड़ देगा।

स्टार्टअप व सफलता की कहानियाँ जो आपने कहीं नहीं पढ़ी होंगी-

Disclaimer: इस आर्टिकल को कुछ अनुमानों और जानकारी के आधार पर बनाया है हम फाइनेंसियल एडवाइजर नही है आप इस आर्टिकल को पढ़कर शेयर बाज़ार (Stock Market), म्यूच्यूअल फण्ड (Mutual Fund), क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) निवेश करते है तो आपके प्रॉफिट (Profit) और लोस (Loss) के हम जिम्मेदार नही है इसलिए अपनी समझ से निवेश करे और निवेश करने से पहले फाइनेंसियल एडवाइजर की सलाह जरुर ले

Important Information:  Important Information: हम किसी भी तरह की Paid Tips या Advise नहीं देते हैं, साथ ही हम किसी भी स्टॉक को खरीदने की सलाह भी नहीं देते बड़े पब्लिकेशन के द्वारा दी गई जानकारी को हमारे द्वारा पुन अधिक जानकारी के साथ प्रकाशित करते हैं। हम किसी भी तरह की भ्रामक सूचना भी साझा नहीं करते हैं। ध्यान दें कि हम किसी भी प्रकार की Tips और Advise किसी शेयर को खरीदने के लिए हमारे किसी भी प्लेटफार्म जैसे WhatsApp Group, Telegram Group, YouTube पर भी साझा नहीं करते हैं

हमारी टीम से बात करने के लिए मेल करे info.avsvishal@gmail.com

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *