एक्टिंग के साथ शुरू किया बिजनेस, बना डाली 50 करोड़ की कंपनी – Nish Hair Parul Gulati Success Story

Nish Hair Parul Gulati Success Story : बॉलीवुड की ज्यादातर एक्ट्रेस एक्टिंग के साथ-साथ स्टार्टअप और बिजनेस में भी निवेश करती है जिससे उनके पास कमाई का एक दूसरा विकल्प मौजूद रहे। लेकिन आज हम ऐसी एक्ट्रेस के बारे में बात करने वाले हैं जिनका एक्टिंग करियर मुश्किलों से जूझ रहा था तभी उन्होंने खुद का एक बिजनेस शुरू किया और 50 करोड़ की कंपनी बना डाली।

एक्ट्रेस और मॉडल पारुल गुलाटी (Parul Gulati) ने “निश हेयर” नामक एक बिजनेस की शुरुआत की और आज पारुल इस बिजनेस से हर महीने 1 करोड़ तक की बिक्री कर रही है। इन्होंने 2022 के अंत तक बिना किसी फंडिंग के इस बिजनेस इस ऊंचाई तक पहुँचाया था।

साल 2022 में पारुल गुलाटी शार्क टैंक इंडिया में पहुँची थी जहाँ से इनको 1 करोड़ की फंडिंग भी प्राप्त हुई थी। आइये जानते है कि निश हेयर क्या है, इसकी शुरुआत कैसे हुई और कैसे ये सालाना करोड़ों का बिजनेस कर रहे है।

Nish Hair क्या है?

निश हेयर - Nish Hair
निश हेयर – Nish Hair

Nish Hair, महिलाओं के लिए हेयर एक्सटेंशन बनाने वाली देश की पहली ऑनलाइन कंपनी है। ये हेयर एक्सटेंशन इंसानों के बालों के द्वारा ही बनाये जाते है तथा इनकी क्वालिटी बाकी ब्रांड्स से बेहतर होती है जिसकी वजह से महिलायें इनके प्रोडक्ट्स के बारे में अच्छे रिव्यु देती है।

निश हेयर के प्रोडक्ट ऐमजॉन के साथ-साथ इनकी खुद की वेबसाइट पर भी उपलब्ध है। भारत में 66 करोड़ महिलायें हैं जिनमें से 60% को बाल झड़ने की समस्या है। निश हेयर ऐसी महिलाओं को कम दामों पर हेयर एक्सटेंशन प्रदान करके उनकी मदद करता है।

Nish Hair की शुरुआत कब और कैसे हुई?

Nish Hair की शुरुआत पारुल गुलाटी ने अपनी मम्मी के साथ मिलकर की थी। पारुल ने घर के लिविंग रूम और एक सिलाई मशीन से इस कंपनी की शुरुआत की थी।

पारुल गुलाटी की शुरुआती पढ़ाई रोहतक, हरियाणा से हुई थी। पारुल 2010 में एक्टिंग के लिए मुंबई शिफ्ट हो गई। मॉडलिंग और एक्टिंग के साथ इन्होंने मुंबई यूनिवर्सिटी से अपनी पढाई भी जारी रखी।

एक समय इंडस्ट्री से काम न मिलने के कारण पारुल दुखी रहने लगी थी और अपने घर में बैठकर इन्होंने अपने बाल काट दिये थे। उसके बाद जब इनको एक शूट मिला तो इन्होंने प्रोडक्शन हाउस से हेयर एक्सटेंशन की डिमांड की लेकिन उन्होंने इसके लिए मना कर दिया।

मार्केट में उपलब्ध हेयर एक्सटेंशन काफी महँगे और भारी होते थे जिसके बाद पारुल को निश हेयर का आईडिया आया और उन्होंने अपनी मम्मी के साथ मिलकर इस बिजनेस की शुरुआत कर दी।

पारुल को ये आईडिया 2016 में आया था तथा उन्होंने 2017 में अपनी वेबसाइट लाँच कर दी। 2019 में पारुल के करियर के साथ साथ इनका बिजनेस भी ऊपर जा रहा था और उनका बिजनेस अच्छा चलने लगा था।

लॉकडाउन में फिल्म इंडस्ट्री का काम रुक गया और पारुल भी घर में ही थी। लॉकडाउन के दौरान ही पारुल के 6 वेबशो रिलीज हुए जिसके बाद पारुल घर बैठे ही इन्फ्लुएंसर बन गई। पारुल ने इंस्टाग्राम के माध्यम से अपने प्रोडक्ट को लोगों तक पहुँचाना शुरू कर दिया। आज पारुल सोशल मीडिया और अपनी वेबसाइट के माध्यम से हर महीने करोड़ों की बिक्री कर रही है।

Nish Hair का बिजनेस मॉडल क्या है?

Nish Hair, हेयर टॉपर्स, क्लिप-इन बैंग्स, स्ट्रैंडआउट्स, विग्स, हेयर एक्सटेंशन, हॉलो हेयर तथा और भी एक्सेसरीज के माध्यम पैसे कमाता है। इनके प्रोडक्ट 1,000 से लेकर 30,000 तक की कीमत तक उपलब्ध है। निश हेयर अपने प्रोडक्ट को बेचने के बाद उनसे 30% का नेटप्रॉफिट प्राप्त करता है इसीलिए ये हर महीना करोड़ो की बिक्री कर रहे है।

इन्होंने 2021 में केवल स्कैल्प लाइन हेयर टॉपर से 1 करोड़ की सेल की थी। इन्होंने सितम्बर 2022 तक बिना कोई फंडिंग उठाये सालाना 15 करोड़ के रेवेन्यू को प्राप्त किया।

वित्त वर्षरेवेन्यू (रु.)
2021-226.7 करोड़
2022-2315 करोड़ (अनुमानित)
अक्टूबर 202280 लाख
सितम्बर 202279 लाख
अगस्त 202264 लाख

Nish Hair अपनी मार्केटिंग कैसे करता है?

Nish Hair अपने इंस्टाग्राम पेज के माध्यम से अपनी मार्केटिंग करता है। इसकी फाउंडर पायल गुलाटी वीडियो के माध्यम से सभी महिलाओं को गाइड करती है जिससे उनको हेयर एक्सटेंशन से सम्बंधित सभी समस्यायों का निवारण मिल जाता है।

इनके प्रोडक्ट वर्ड ऑफ माउथ के माध्यम से सबसे ज्यादा बिकते है तथा इनकी बिक्री इनकी वेबसाइट से सबसे ज्यादा होती है। इन्होंने 2022 तक सालाना केवल 1.3 लाख रुपये मार्केटिंग पर खर्च किये है।

Nish Hair को शार्क टैंक इंडिया से मिली कितनी फंडिंग?

Nish Hair की फाउंडर पारुल गुलाटी शार्क टैंक इंडिया के सीजन 2 में पहुँची थी। वहाँ उन्होंने 2% इक्विटी के बदले 1 करोड़ की डिमांड की थी।

अमित जैन, विनीता सिंह और अमन गुप्ता ने इनके बिजनेस से प्रभावित होकर इनको ऑफर दिया। अमित जैन बिना किसी मोलभाव के 2% इक्विटी के बदले 1 करोड़ का ऑफर दिया जबकि विनीता और अमन ने साथ मिलकर 3% इक्विटी के बदले 1 करोड़ का ऑफर दिया।

पारुल गुलाटी ने CarDekho के फाउंडर अमित जैन का ऑफर स्वीकार किया और 2% इक्विटी देकर 1 करोड़ रुपये प्राप्त किये।

Nish Hair का लक्ष्य क्या है?

Nish Hair की फाउंडर पारुल गुलाटी चाहती हैं कि उनकी कंपनी कम से कम 100 करोड़ के लक्ष्य को प्राप्त करे।

अधिकतम पूछे जाने वाले प्रश्न – FAQ

अभी शेयर करें –

Leave a Comment