Made in India laptop startup PrimeBook gets 75 lakh funding from Shark Tank India Season 2
|

इंडियन लैपटॉप स्टार्टअप को मिली 75 लाख की फंडिंग – PrimeBook at Shark Tank India Season 2

PrimeBook at Shark Tank India Season 2 : शार्क टैंक इंडिया के सीजन 2 के एपिसोड-11 में 4 युवा फाउंडर्स आते हैं जिन्होंने मेड इन इंडिया लैपटॉप ब्रांड “प्राइमबुक” शुरू किया है। इन्होंने टेक्नोलॉजी की मदद से मेड इन इंडिया ऑपरेटिंग सिस्टम PrimeOS का निर्माण किया है जिसके बारे में सुनकर सभी शार्क इनसे काफी प्रभावित हुए।

लॉकडाउन के बाद से ऑनलाइन लर्निंग आज के बच्चों की जरूरत बन चुकी है लेकिन बिना लैपटॉप के ये काम अधूरा ही है। आज देश के 23 करोड़ बच्चों को लैपटॉप की जरुरत है लेकिन 10 में से केवल 1 बच्चे के पास ही लैपटॉप मौजूद है। 

मार्केट में मिलने वाले ज्यादातर लैपटॉप महँगे होते है जिसके कारण इस खरीद पाना आम लोगों के लिए मुश्किल है। स्टूडेंट्स के लिए अच्छे फीचर्स के साथ आने वाला प्राइमबुक एक ऐंड्रॉइड लैपटॉप है जो मोबाइल की कीमत पर एक लैपटॉप का मजा देता है।

प्राइमबुक क्या है – PrimeBook

प्राइमबुक - PrimeBook
प्राइमबुक – PrimeBook

PrimeBook, एक नये तरीके का एंड्रॉइड लैपटॉप है जो आपको मोबाइल की कीमत पर एक प्रोडक्टिव और डिजिटल सेफ मशीन बनाकर देते है। यह लैपटॉप मूलतः स्टूडेंट्स की पढ़ाई के लिए बनाया गया है। ये मोबाइल की कीमत पर आपको लैपटॉप का अनुभव प्रदान करते है। इनके प्राइमबुक ऐप स्टोर में 10,000 से ज्यादा स्टूडेंट फ्रेंडली ऐप्स मौजूद हैं।

इन्होंने इस लैपटॉप के लिए मेड इन इंडिया ऑपरेटिंग सिस्टम “PrimeOS” बनाया है जो इसे बाकी इंडियन और इंटरनैशनल लैपटॉप से बिल्कुल अलग बनाता है। अभी तक PrimeOS को 140 देशों में 30 लाख से ज्यादा बार डाउनलोड किया जा चुका है।

इसकी शुरुआत अमन वर्मा, पंकज रावत, उमंग लीखा और चित्रांशु महंत ने की थी। इन्होंने मात्र 2 महीने पहले इस लैपटॉप की मैन्युफैक्चरिंग शुरू की है और अभी तक इन्होंने इसको कुछ NGO और  एडटेक कंपनियों को बेच चुके है। ये अभी 350 सर्विस स्टेशनों के माध्यम से 21,000 से ज्यादा पिनकोड में सर्विसिंग की सुविधा भी प्रदान कर रहे है। 

PrimeBook ने अभी तक कितनी फंडिंग उठाई है?

शार्क टैंक इंडिया में आने से पहले भी इन्होंने 3 बार फंडिंग उठाई है।

साल फंडिंग प्राइस वैल्यूएशन
20181 करोड़ 6 करोड़
20191 करोड़14 करोड़
20211.5 करोड़25 करोड़

अभी तक PrimeBook ने कितना पैसा बनाया?

PrimeBook ने मात्र 2 महीने पहले ही अपने लैपटॉप ब्रांड का लॉंच किया है लेकिन फिर भी इन्होंने एक महीने में 20 लाख रुपये की बिक्री कर ली है। 

PrimeBook के फाउंडर्स ने कितनी फंडिंग की डिमांड की?

PrimeBook के फाउंडर्स ने 1.5% एक्वटी पर 75 लाख रुपयों की डिमांड की जिसकी वैल्यूएशन 50 करोड़ लगाई गई।

फाउंडरफंडिंग प्राइसएक्वटीवैल्यूएशन
अमन, पंकज, उमंग, चित्रांशु75 लाख1.5%50 करोड़

सभी Sharks ने क्या-क्या ऑफर दिए?

पीयूष, अनुपम, अमन और विनीता ने इनको ऑफर दिए लेकिन नमिता ने इनको कोई भी ऑफर नहीं दिया।

शार्कफंडिंग प्राइसएक्वटीवैल्यूएशन
अमन गुप्ता75 लाख4%18.75 करोड़
विनीता सिंह75 लाख3%25 करोड़
पीयूष बंसल75 लाख4%18.75 करोड़
अनुपम मित्तल75 लाख3%25 करोड़

फाउंडर्स का काउंटर ऑफर

फाउंडर्स ने 75 लाख 2.5% की एक्वटी के लिए के लिए काउंटर ऑफर दिया जिसकी वैल्यूएशन 30 करोड़ लगाई गई।

फंडिंग प्राइसएक्वटीवैल्यूएशन
75 लाख2.5%30 करोड़

फाइनल डील किसको मिली?

पीयूष और अमन ने साथ मिलकर 75 लाख रुपये देकर 3% एक्वटी प्राप्त की जो 25 करोड़ की वैल्यूएशन पर प्राप्त हुई।

शार्कफंडिंग प्राइसएक्वटीवैल्यूएशन
पीयूष & अमन75 लाख3%25 करोड़

Disclaimer: इस आर्टिकल को कुछ अनुमानों और जानकारी के आधार पर बनाया है हम फाइनेंसियल एडवाइजर नही है आप इस आर्टिकल को पढ़कर शेयर बाज़ार (Stock Market), म्यूच्यूअल फण्ड (Mutual Fund), क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) निवेश करते है तो आपके प्रॉफिट (Profit) और लोस (Loss) के हम जिम्मेदार नही है इसलिए अपनी समझ से निवेश करे और निवेश करने से पहले फाइनेंसियल एडवाइजर की सलाह जरुर ले

Important Information:  Important Information: हम किसी भी तरह की Paid Tips या Advise नहीं देते हैं, साथ ही हम किसी भी स्टॉक को खरीदने की सलाह भी नहीं देते बड़े पब्लिकेशन के द्वारा दी गई जानकारी को हमारे द्वारा पुन अधिक जानकारी के साथ प्रकाशित करते हैं। हम किसी भी तरह की भ्रामक सूचना भी साझा नहीं करते हैं। ध्यान दें कि हम किसी भी प्रकार की Tips और Advise किसी शेयर को खरीदने के लिए हमारे किसी भी प्लेटफार्म जैसे WhatsApp Group, Telegram Group, YouTube पर भी साझा नहीं करते हैं

हमारी टीम से बात करने के लिए मेल करे info.avsvishal@gmail.com

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *